Jokes in Hindi – Latest Hindi Jokes

Whatsapp का कड़वा सच आप जरूर स्वीकार करे, कुछ विचार करे.

एक बच्चा गायब हो गया, किसी ने उसका फोटो whatsapp पर डाल दिया कि बच्चे को ढूंढने के लिए फोटो फॉरवर्ड करें।
शाम को बच्चा वापस आ गया।
लेकिन आज एक साल हो गया और उसका फोटो अब भी फॉरवर्ड हो रहा है।
बच्चा जहाँ भी जाता है लोग उसे पकड़ कर उसके घर छोड़ आते हैं।


 

यमलोक के दरवाजे पर दस्तक हुई तो यमराज ने जाकर दरवाजा खोला।

उन्होंने बाहर झांका तो एक मानव को सामने खड़ा पाया। यमराज ने कुछ बोलने के लिए मुंह खोला ही था कि वह एकाएक गायब हो गया।

यमराज चौंके और फिर दरवाज़ा बंद कर लिया। यमराज अभी वापस मुड़े ही थे कि फिर दस्तक हुई। उन्होंने फिर दरवाजा खोला। उसी मानव को फिर सामने मौजूद पाया, लेकिन वह आया और फिर गायब हो गया।

ऐसा तीन-चार बार हुआ तो यमराज अपना धैर्य खो बैठे और अबकी बार उसे पकड़ ही लिया और पूछा, “क्या बात है भाई, क्या ये आना-जाना लगा रखा है। मुझसे पंगा ले रहे हो?”

मानव ने बड़ी सहजता पूर्वक जवाब दिया, “अरे नहीं महाराज, दरअसल मैं तो वैंटीलेटर पर हूं और यह डॉक्टर लोग ही हैं जो आपसे मस्ती कर रहे हैं।”


 

एक चिड़िया ने मधुमक्खी से पूछा कि तुम इतनी मेहनत
से शहद बनाती हो और इंसान आकर उसे चुरा ले जाता
है, तुम्हे बुरा नही लगता ??

मधुमक्खी ने बहुत सुंदर जवाब दिया :
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
तू थारो काम कर पंचायती मत कर……


 

खूब लंबा-तगड़ा एक ?पहलवान ?बस में चढ़ा।

?कंडक्टर: भाई साहब,? टिकट?
.

?पहलवान: हम ?टिकट नहीं लेते।
.

?कंडक्टर डर के मारे कुछ नहीं कर सका।

लेकिन कंडक्टर ने इस बात को ?दिल पर ले लिया।

?कंडक्टर जिम जाकर खूब मेहनत करने लगा।
.

?पहलवान रोज ?बस में चढ़ता।
.

?कंडक्टर रोज पूछता: भाई साहब, ?टिकट?
.

?पहलवान रोज जवाब देता: हम ?टिकट नहीं लेते।

कण्डक्टर ने बात को दिल पर ले ली..
रातोँ की नीँद उड़ गई?
ख़ून ख़ौल उठा..??

6⃣ महीने में ?कंडक्टर ज़िम में कसरत करके? पहलवान की तरह तगड़ा हो गया।
.

?पहलवान फिर ?बस में चढ़ा।
.

?कंडक्टर: भाई,? टिकट ले ले।
.

?पहलवान: हम ?टिकट नहीं लेते।
.

?कंडक्टर छाती चौड़ी करके बोला: क्यों नहीं लेता बे?
.

?पहलवान: पास बनवा रखा है, इसीलिए नहीं लेता।

कुछ बातें दिल पे नही लेनी चाहिए?????।


 

एल.एल.बी. की पढ़ाई…

प्रोफेसर : “अगर तुम्हें
किसी को संतरा देना हो तो क्या बोलोगे…?

वकील: “ये संतरा लो।

प्रोफेसर : नहीं…
एक वकील की तरह बोलो…।

वकील : मैं एतद् द्वारा, अपनी पूरी रुचि व होशो-हवास में और
बिना किसी के दबाव में आए इस फल,
जो कि संतरा कहलाता है, और जिस पर मैं
पूरा मालिकाना हक़ रखता हूँ, को उसके छिलके,
रस, गूदे और बीज सहित आपको देता हूँ और इसके
साथ ही आपको इस बात सम्पूर्ण व बिना शर्त
अधिकार भी देता हूँ कि आप इसे काटने, छीलने,
फ्रिज में रखने या खाने के लिये पूरी तरह स्वतंत्र
हैं।
आप यह अधिकार भी रखेंगे कि आप
किसी भी अन्य व्यक्ति को यह फल इसके छिलके,
रस, गूदे और बीज के बिना या उसके साथ दे सकते
हैं।
मैं घोषणा करता हूं कि आज से पहले इस संतरे से
संबंधित किसी भी प्रकार के वाद विवाद, झगड़े
की समस्त जिम्मेदारी मेरी है।
और
अब के बाद मेरा किसी भी प्रकार से इस संतरे से
कोई सम्बन्ध नहीं रह जाएगा…।

प्रोफेसर : प्रभु आपके चरण कहाँ हैं…?


 

एक auto wale की शादी हो रही
थी……

जब उसकी दुल्हन फेरों के वक्त उसके पास बैठी तो वह बोला,

थोड़ा पास होकर बैठो, अभी एक
सवारी और बैठ सकती है ॥


 

पप्पू एक बारात में गया, वहां उसे बार-बार पानी परोस दिया जाता था. . . . . . . . . .
बेचारा परेशान होकर
चिल्लाया: गले में पानी फंस गया है थोड़ा “रसगुल्ला” दो.


 

मजबूरियां होती हैं महान लोगों के
जीवन में।
नही तो राम वनवास में…
क्रष्ण कारावास में….
:
:
और में दुकान में क्यों बैठता…।।


 

जब आप किसी चीज को पूरी शिद्दत से पाने की ख्वाहिश या कोशिश करते हैं, तो वह चीज
.
.
.
.
उसी शिद्दत से कुछ ज्यादा ही एटीट्यूड दिखाने लगती है।।


 

क्या आप बता सकते हैं की बादल इतने काले क्यों होते हैं ???

?
?
?
?
?
?
?
?
?
?
?
?
?

क्यूंकी वो धुप में बहुत घूमते हैं …


 

प्रश्न : हिंदी हमारी मात्रभाषा है , पित्रभाषा क्यों नहीं ?
उत्तर : क्यूंकी , माताजी ने पिताजी को कभी बोलने ही नहीं दिया …!


 

दो औरतें एक आम के पेड़ के नीचे बैठकर काफी देर से बातें कर रही थी .

तभी अचानक पेड़ से एक आम नीचे गिरा !

पहली औरत : अभी तो पेड़ो पर आम कच्चे होते हैं , तो यह आम कैसे नीचे गिरा ?

इससे पहले की दूसरी औरत कुछ बोलती ,
आम खुद हाथ जोड़कर बोल पड़ा :
“पक गया हूँ बेहन जी मैं इतनी देर से तुम दोनों की बातें सुन सुन कर !”


 

नेपाली नौकर : ऊ शाब जी , मोटर ख़राब हो गयी !

साहेब बड़े परेशान !!
“अब क्या करूँगा , नहाऊंगा कैसे ?”

इस मोटर को भी अभी ख़राब होना था !

नौकर : क्या करूँ शाब जी , फेंक दूँ , इश्को क्या ?

साहेब : पागल है क्या , करवाता हूँ ठीक .

नौकर : ठीक है शाब जी .
तो फिर …
आज ….
आलू में मोटर के बदले गोभी दाल देता हूँ शाब जी !


पठान: हकीम साहब, मेरे दोस्त की तबियत बहुत ख़राब है, उसे नींद नहीं आ रही है। कृपया नींद आने की कोई दवाई दे दीजिये।

हकीम: यह लो पुड़िया और इस में से पच्चीस पैसे के सिक्के पर जितनी आये उतनी रख कर पानी से दे देना।

अगले दिन पठान घबराया हुआ आया।

पठान: हकीम साहब, आपने जो दवाई दी थी उसे खाकर मेरे दोस्त की मौत हो गयी।

हकीम: वो कैसे? यह बताओ तुमने दवाई दी कैसे थी?

पठान: आपने कहा था कि पच्चीस पैसे के सिक्के पर जितनी आये उतनी रखकर खिला देना। मेरे पास पच्चीस पैसे का सिक्का तो नहीं था। इसलिए मैंने पांच पैसे के सिक्के पर रखकर पांच बार दे दी!


 

एक बार एक किसान का घोडा बीमार हो गया। उसने उसके इलाज के लिए डॉक्टर को बुलाया। डॉक्टर ने घोड़े का अच्छे से मुआयना किया और बोला, “आपके घोड़े को काफी गंभीर बीमारी है। हम तीन दिन तक इसे दवाई देकर देखते हैं, अगर यह ठीक हो गया तो ठीक नहीं तो हमें इसे मारना होगा। क्योंकि यह बीमारी दूसरे जानवरों में भी फ़ैल सकती है।”

यह सब बातें पास में खड़ा एक बकरा भी सुन रहा था।

अगले दिन डॉक्टर आया, उसने घोड़े को दवाई दी चला गया। उसके जाने के बाद बकरा घोड़े के पास गया और बोला, “उठो दोस्त, हिम्मत करो, नहीं तो यह तुम्हें मार देंगे।”

दूसरे दिन डॉक्टर फिर आया और दवाई देकर चला गया।

बकरा फिर घोड़े के पास आया और बोला, “दोस्त तुम्हें उठना ही होगा। हिम्मत करो नहीं तो तुम मारे जाओगे। मैं तुम्हारी मदद करता हूँ। चलो उठो”

तीसरे दिन जब डॉक्टर आया तो किसान से बोला, “मुझे अफ़सोस है कि हमें इसे मारना पड़ेगा क्योंकि कोई भी सुधार नज़र नहीं आ रहा।”

जब वो वहाँ से गए तो बकरा घोड़े के पास फिर आया और बोला, “देखो दोस्त, तुम्हारे लिए अब करो या मरो वाली स्थिति बन गयी है। अगर तुम आज भी नहीं उठे तो कल तुम मर जाओगे। इसलिए हिम्मत करो। हाँ, बहुत अच्छे। थोड़ा सा और, तुम कर सकते हो। शाबाश, अब भाग कर देखो, तेज़ और तेज़।”

इतने में किसान वापस आया तो उसने देखा कि उसका घोडा भाग रहा है। वो ख़ुशी से झूम उठा और सब घर वालों को इकट्ठा कर के चिल्लाने लगा, “चमत्कार हो गया। मेरा घोडा ठीक हो गया। हमें जश्न मनाना चाहिए। आज बकरे का गोश्त खायेंगे।”


 

पुलिस वाला गली में झगड़ रहे पति-पत्नी को थाने ले आया।

पति(इंस्पेक्टर से): श्रीमान, यह सिपाही हम पति पत्नी को यूं ही पकड़ लाया है. हम तो गली में खड़े साधारण सी बात पर झगड़ रहे थे।

इंस्पेक्टर: परन्तु आप लोग घर में झगड़ने के बजाए गली में क्यों झगड़ रहे थे?

पत्नी(गुस्से में): तो आपका मतलब है कि हम अपने घर का फर्नीचर तोड़ डालते।


 

पठान ने कस्टमर केयर मे फोन किया।

लड़की ने फोन उठाया: सर आपका स्वागत है मैँ आपकी क्या सेवा कर सकती हूँ?

पठान (थोड़ा आराम से): मुझसे शादी करोगी?

लड़की: सर आपका गलत नंबर लग गया है।

पठान: ना सही लगा है प्लीज बताओ ना।

लड़की: मुझे आप में कोई दिलचस्पी नहीं है।

पठान: अरे सुनो तो अरेँज मैरिज पर स्विट्जरलैँड का और लव मैरिज पर सिँगापुर का हनीमून प्लान है।

लड़की: मुझे आपसे शादी करने की कोई दिलचस्पी ही नही है, अपने प्लान अपने पास रखो।

पठान: अजी सुनो तो, हिँदू फंक्शन वैडिँग पर डायमंड नैक्लेस दूँगा, मुस्लिम पर झुमके और क्रिस्चियन वैडिँग की तो सोने के कंगन।

लड़की: चुप करो मुझे कोई दिलचस्पी ही नहीँ है आप में|

पठान: अब समझ आया मेरा दर्द, रोज मुझे फोन और मैसेज कर कर के क्या क्या ऑफर देते हो जिनमे मेरी कोई दिलचस्पी नहीं होती!


 

1. आलसी मम्मी – एक बात तुम्हें कितनी बार बतानी पड़ती है?

2. धमकाने वाली मम्मी – आने दो तुम्हारे पापा को तुम्हारी शिकायत करुँगी।

3. इतिहास पसंद मम्मी – जब मैं तुम्हारी उम्र की थी तो सारी जिम्मेदारी संभाल लेती थी।

4. भविष्य वाचक मम्मी – मुझे पता था ये जरूर टूटेगा।

5. भ्रमित मम्मी – मैं इंसान हूँ या मशीन?

6. स्वार्थी मम्मी – परांठा तुम्हारे लिए दिया था या तुम्हारे दोस्तों के लिए?

7. शक्की मम्मी – 10 में से 10, जरूर तुमने नक़ल की होगी?

8. सबकी मम्मी – इस मोबाइल को आग लगा दूँगी।


मंदिर पहुंचे लड़की और लड़के के फेसबुक पर डाले गए पोस्ट पर कमेंट।

लड़की– इन टेंपल

कमेंट
पहला– जय माता दी।
दूसरा– मेरे लिए भी प्रसाद लेकर आना।
तीसरा– बहुत अच्छे।

लड़का– इन टेंपल

कमेंट
पहला– अबे वहां भीख मांगने बैठ गया क्या?
दूसरा– साले टेंपल रन और टेंपल में फर्क नहीं पता क्या?
तीसरा– अबे कमीने, तू वहां भी पहुंच गया लड़कियां देखने?


 

दो दोस्त बात कर रहे थे।

पहला- यार, कल रात मेरे बॉथरुम में भूत घुस गया।
दूसरा- फिर क्या हुआ?
पहला- फिर क्या, मैंने कहा आप ही कर लो, हमारा तो वैसे ही निकल गया है।

 


तीन दोस्त एक कमरे में बैठे दारू पी रहे थे।

पहला- भाई मोटरसाईकिल से लेह-लद्दाक चलते है।
दूसरा- हां भाई चलते है, बड़ा मजा आएगा, मस्ती करेंगे।

तीसरा दोस्त- पर यार अपने पास तो साइकिल भी नहीं ?

पहला फिर बोला- कमीने, हमे पता था कि तू दारू नहीं पी रहा है सिर्फ नमकीन खा रहा है।


एक दिन टीवी पर शराबी फिल्म देखते हुए पत्‍नी बोली: अमिताभ बच्चन कितना अच्छा एक्टर है। शराब न पीकर भी पिए हुए की कितनी अच्छी एक्टिंग कर लेते है।

यह सुनकर पति सोचने लगा: अब इस पागल को कौन समझाए कि शराब न पीकर ‌पिए हुए की एक्टिंग करने से ज्यादा मुश्किल होती है शराब पीकर न पीने की एक्टिंग करना।


 

एक सास अपनी बहू से बहुत परेशान रहती थी क्योंकि वह घर का कोई काम नहीं करती थी। एक दिन सास ने एक तरकीब सोची और अपने बेटे को बुलाया।

सास ने बेटे को कहा कि कल जब मैं घर में झाडू लगाऊं तो तू मुझे रोकना और कहना कि रुको मां मैं कर देता हूं। इससे तेरी पत्‍नी को शर्म तो आएगी।

अगले दिन जब सास ने घर की सफाई के लिए झाडू हाथ में लिया तो बेटे ने मां को रोका और खुद काम करने की बात कहने लगा। इस पर सास और बेटे के बीच मैं करूंगा काम की बात सुनकर बहू आई।

बहू अपने पति से अरे, आप लोग इतनी सी बात पर क्यों झगड़ रहे हो। ऐसा करो कि एक दिन घर की सफाई आप कर लेना और एक दिन सास जी कर लेंगी।


एक नया शादीशुदा जोड़ा बाग में टहल रहा था।

अचानक एक बड़ा सा कुत्ता उनकी तरफ झपटा, दोनों को ही लगा कि ये उन्हें काट लेगा।

बचने का कोई रास्ता न देख पति ने तुरंत अपनी पत्नी को गोद में ऊपर तक उठा लिया ताकि कुत्ता काटे तो उसे काटे न कि उसकी पत्नी को।

कुत्ता बिलकुल नज़दीक आकर रुका, कुछ देर तो भौंका और फिर पीछे की तरफ भाग गया।

पति ने चैन की सांस ली और इस उम्मीद में पत्नी को गोद से उतारा कि पत्नी उसे गले लगाएगी और प्यारा सा छोटा सा किस करेगी।

तभी उसकी तमाम उम्मीदों पर पानी फेरती उसकी बीवी चिल्लाई,
“मैंने आज तक लोगों को कुत्ते को भगाने के लिए पत्थर या डंडा फेंकते तो देखा था पर ऐसा आदमी पहली बार देख रही हूँ जो कुत्ते को भगाने के लिए अपनी बीवी को फ़ेंकने को तैयार था।”

शिक्षा: बीवियों से कभी तारीफ की उम्मीद नहीं करनी चाहिए।


एक बार संता और बंता एक कोयले की खदान में नौकरी के लिए इंटरव्यू देने जाते हैं तो मैनेजर पहले बंता को बुलाता है और उसका इंटरव्यू लेता है।

मैनेजर: क्या तुमने इस से पहले भी कभी खदान में काम किया है?

बंता: जी हाँ।

मैनेजर: अच्छा तो मुझे यह बताओ की उसकी गहराई कितनी थी?

बंता: जी 20 फुट।

बंता की बात सुन मैनेजर को गुस्सा आ जाता है तो वह उस से कहता है, “क्या बकवास कर रहे हो 20 फुट गहरी भी कोई खदान होती है, तुम झूठ बोल रहे हो इसीलिए मेरे कमरे से बहार निकल जाओ।”

मैनेजर की बात सुन बंता बहार आ जाता है और संता को अन्दर हुई सारी बात बताता है और कहता है, “अगर मैनेजर अन्दर तुमसे खदान की गहराई के बारे में पूछे तो ज्यादा से ज्यादा बताना।”

उसके बाद संता की बारी आती है तो मैनेजर फिर उस से वही सवाल पूछता है।

मैनेजर: क्या तुमने इस से पहले कभी खदान में काम किया है?

संता: जी हाँ।

मैनेजर: अच्छा तो उस खदान की गहराई कितनी थी?

संता: जी 20,000 हज़ार फुट।

मैनेजर: बहुत बढ़िया तो एक बात और बताओ कि इतनी गहराई में काम करते वक्त तुम किस तरह की लाईटों का प्रयोग करते थे?

संता: जी मुझे कभी लाईटों की ज़रूरत नहीं पड़ी क्योंकि मेरी दिन की शिफ्ट होती थी।


 

Laugh More With Our Amazing Collection of Jokes On Your Favorite Categories

Latest Jokes In EnglishPolitical JokesWordPlay Jokes
Movie JokesSanta Banta JokesFamily Jokes
Office JokesSchool-College JokesFunny Pictures

Related Posts

About The Author

Add Comment